Home remedies for urinary problems in hindi peshaab se judi samasyaaon ka gharelu upchaar

पेशाब से जुड़ी समस्याओं का घरेलू उपचार

पेशाब की समस्या (Urinal Problem )

 

आजकल पेशाब की समस्या से परेशान रोगी काफी देखने को मिल रहे हैं। काफी सारे लोग पेशाब से जुड़ी समस्याओं से परेशान हैं। पेशाब से जुड़ी समस्याएं जिनके बारे में चर्चा कर रहे हैं वह कुछ इस प्रकार हैं पेशाब खुलकर आना, पेशाब का बार बार आना या पेशाब रुक - रुक कर आने की समस्या अधिकांश लोगों में देखी जा रही है। पेशाब की समस्या होने पर पीड़ित व्यक्ति को काफी परेशानी महसूस होती हैं। उपरोक्त बताई गई समस्या के कारण से  पीड़ित को पेशाब की परेशानी या रोग होने की वजह से पीड़ित को पेशाब खुलकर नहीं आती और थोड़ी - थोड़ी मात्रा में वह पीड़ित व्यक्ति के ब्लैडर में धीरे-धीरे एकत्रित या जमा होने लगती है। इस तरह से ब्लैडर में यूरिन एकत्रित होती रहती है जिसके कारण पीड़ित व्यक्ति के मूत्राशय या यूरिन यूरिनरी ब्लैडर में जमा हो जाती हैं इस कारण से पीड़ित व्यक्ति को यूरिन इन्फेक्शन होने का खतरा काफी अधिक हो जाता है। पेशाब की समस्या किसी को भी हो सकती है चाहे वह महिला हो या पुरुष। यूरीन इनफेक्शन की समस्या का घरेलू उपचार आप हमारे वेबसाइट से पढ़ सकते हैं। यूरिनरी ब्लैडर में यूरीन का जमाव होने के कारण जब यूरिन ब्लैडर की क्षमता से अधिक हो जाती है तब पीड़ित को असहनीय पीड़ा महसूस होती है। इस समस्या का समय रहते उपचार करना बेहद आवश्यक है। पेशाब की समस्या से ग्रस्त होने के बाद कुछ व्यक्ती अंग्रेजी दवाओं का सहारा लेते हैं परंतु हम आपको इस बात से अवगत करा दें कि कुछ घरेलू उपचार के द्वारा भी आप उपरोक्त समस्या में आराम पा सकते हैं। 

 

रुक रुक कर पेशाब आने का कारण

* किडनी में किसी प्रकार की खराबी होना

* ब्लैडर या किडनी में पथरी होना

* ब्लैडर में इन्फेक्शन होना

* यूरिन इन्फेक्शन होना

* किसी प्रकार के नशे का आदी होना या कई सालों से किसी प्रकार के नशे की लत  होने वाले व्यक्ति को भी पेशाब रुक रुक कर आती है।

 

घरेलू उपचार

रुका हुआ पेशाब खुलकर आए इसके लिए चीनी और जीरा बराबर मात्रा में पीस लें और इसके दो चम्मच की मात्रा में सुबह शाम लें।

खरबूजा और ककड़ी के रस का सेवन करने से यूरीन ज्यादा बनता है ऐसे लोग जिनको पेशाब बनने या कम आने की समस्या हो वह इस प्रयोग सेसमस्या में राहत पा सकते हैं। 

नींबू के बीज पीसकर इसे पेट की नाभि पर मलें और ऊपर से थोड़ा ठंडा पानी डालें इस देसी तरीके से रुका हुआ पेशाब भी आने लगता है।

मूली और शलगम  खाने से भी रुक - रुक कर पेशाब का आना ठीक होता है।

केले के तने का रस 4 चम्मच और दो चम्मच घी मिलाकर दिन में दो बार लेने से पेशाब खुलकर आने लगता है। पेशाब का रुक - रुक कर आना या फिर पेशाब की कोई अन्य समस्या हो इसके लिए हल्का गुनगुना पानी पीना सबसे बेहतर उपाय है।

यूरिन बूंद-बूंद करके आता हो तो 50 ग्राम प्याज को 1 लीटर पानी में डालें और उबालकर ठंडा होने के बाद छान लें अब इसमें 4 चम्मच की मात्रा में शहद डाल दें और दिन में तीन से चार बार इसका सेवन करें। इस प्रयोग से पेशाब खुलकर आने लगेगा। पेशाब में दर्द और जलन जैसी परेशानियां  मैं भी राहत मिलेगी।

ककड़ी के रस में शक्कर या मिश्री मिलाकर सेवन करने से पेशाब की रुकावट दूर होती है।

* पथरी के रोगी को खीरे का रस दिन में दो से तीन बार जरूर पीना चाहिए इससे पेशाब में होने वाली जलन रुकावट दूर होती है।

गाजर का रस पीने से पेशाब खुलकर आता है रक्तशर्करा भी कम होता है।

बार बार पेशाब जाने की बीमारी में भुने हुए चनों का सेवन करना चाहिए गुड़ और चने खाने से मूत्र संबंधित समस्या में राहत मिलती है।